गुरूपूर्णिमा पर सादर


वेब वार्ता(न्यूज़ एजेंसी)/अजय कुमार वर्मा
लखनऊ 6 जुलाई। 
आज गुरूपूर्णिमा पर सादर ,


कैसे प्रकट कर सकूं , गुरुवर का आभार ,
गुरु गुणवंती खान हैं , गुरुदेव करतार ।‌।‌


ज्ञान दिया , मान दिया , तन मन भर दी आस ,
गुरु महिमा ने भरा ,जीवन  तमस  प्रकास ।।‌


गुरु बड़े करतार से , बस‌  देने के देव ,
डूबे नैय्या भंवर जब  , गुरुदेव लें खेव ।।‌


सांस मिले करतार से , पाले मां और बाप ,
जीने का रस्ता दिया , गुरुदेव जी आप ।।‌


गुरुवर तो बस बांटते , श्रद्धा लेय समेट ,
गुरु दक्षिणा है महज़ ,एक छोटी सी भेंट ।।‌


                                  - घनश्याम बादल