यूपी महोत्सव की सीएम व राज्यपाल ने की औपचारिक शुरुआत

- प्रधानमंत्री के सपनो को यूपी में अमली जामा पहनाने का काम सीएम योगी ने किया- स्वामी प्रसाद मौर्य


वेबवार्ता(न्यूज़ एजेंसी)/अजय कुमार वर्मा
लखनऊ 24 जनवरी। अवध शिल्प ग्राम में आयोजित हो रहे यूपी दिवस पर दो दिवसीय भव्य आयोजन में उत्तर प्रदेश के सांस्कृतिक विरासत एवं प्रदेश की विभिन्न प्रतिभाओं का सम्मान किया जाएगा। इस दो दिवसीय आयोजन में विभिन्न प्रतिभाएं अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन भी दिखाएंगी।



      यूपी महोत्सव के कार्यक्रम में राज्यपाल आनंदी बेन पटेल भी शामिल हुईं। यूपी महोत्सव की शुरुआत राष्ट्रगान के साथ हुई। यूपी महोत्सव के मंच पर सीएम योगी राज्यपाल आनंदी बेन पटेल, उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा, मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य, मंत्री उपेंद्र तिवारी, मंत्री नील कंठ तिवारी मौजूद थे। यूपी महोत्सव के थीम सांग पर कलाकारों ने नृत्य किया।


ॐ जय हो उत्तर प्रदेश जय हो पावन प्रदेश नामक यूपी महोत्सव का थीम सांग हुआ लांच।


यूपी महोत्सव में पूर्वांचल के कलाकार पूर्वाचल के पारंपरिक लोक नृत्य की प्रस्तुति दिया। यूपी महोत्सव में गोरखपुर से आये बच्चों ने सुंदरकाण्ड पर प्रस्तुति दी।



      कार्यक्रम में कैबिनेट मंत्री स्वामी मौर्य का सम्बोधन भी हुआ। उन्होंने यूपी महोत्सव में आये हुए सभी लोगो को बधाई दिया। उन्होंने कहा सबका साथ सबका विकास की कसौटी पर यूपी सरकार खरी उतर रही है। सीएम योगी और पीएम मोदी के नेतृत्व में यूपी उचाईयो को छू रही है। छात्र बेरोजगार नौजवान के सम्मान व चिंता के साथ यूपी नित्य नई उचाईयो को छू रहा है। समाज के अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति के सम्मान में चार चांद लगाने का काम किया है। जहां श्रम विभाग साइकिल बांटने के लिए जाना जाता था, वहीं आज 18 योजनाएं चला रहा है। पूर्ववर्ती सरकार ने 5 सालो में जो रोजगार नही दिया, वह हमने दो सालों में दिया है। खाना बदोश जीवन निर्वाह करने वालो के लिए हर मंडल में 1 विद्यालय खोलने का निश्चय किया है। अब समस्त 18 मंडलो में अटल आवसीय विद्यालय खुलेंगे। 


उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा का सम्बोधन 


यह विशेष अवसर होता है जब जम अपने जन्म दिवस को बनाते है। आज हम यूपी दिवस मना रहे है। योगी जी जब से सीएम बने है तब से कई रिकॉड कायम किये है। गंगा एक्सप्रेवे यमुना एक्सप्रेवे डिफेंस कॉरिडोर बनाने का काम किया गया। आज से पहले लखनऊ में एक सामान्य तरीके से यूपी दिवस मनाया जाता था।


महाराष्ट्र व दिल्ली में भव्य तरीके से यूपी दिवस मनाया जाता रहा है


24 जनवरी 1950 से लगातार यूपी दिवस मनाया जाता रहा है। यूपी सरकार ने प्रत्येक क्षेत्रो में काम किया है। केंद्र सरकार की योजनाओं का सफलता पूर्वक क्रियान्वन कराने का हमने रिकार्ड कायम किया है।


उत्तर प्रदेश पर्यटन विभाग के द्वारा बनाई गई फ़िल्म


यूपी के पर्यटन पर बनाई गई फ़िल्म का सीएम व राज्यपाल ने किया शुभारंभ। यूपी संस्क्रति विभाग के द्वारा अभिलेखी पुस्तक का किया गया विमोचन। रानीलक्ष्मी बाई पुरस्कार व लक्ष्मण पुरस्कार खिलाड़ियों को दिए गए। 18 आवासीय अटल आवासीय विद्यालयों का किया गया शिलान्यास।सीएम योगी आदित्यनाथ ने किया डिजिटल शिलान्यास। यूपी संस्क्रति विभाग के द्वारा अभिलेखी पुस्तक का किया गया विमोचन।


एशियाई खेल के स्वर्ण पदक विजेता निशानेबाज सौरभ चौधरी, स्टार जैवलिन थ्रोअर शिवपाल सिंह और लम्बी दूरी की धाविका पारुल चौधरी समेत राज्य के नौ पुरुष खिलाडिय़ों को राज्य के सर्वोच्च खेल सम्मान लक्ष्मण पुरस्कार और पांच महिलाओं को रानी लक्ष्मीबाई पुरस्कार से सम्मानित किया गया। राहुल दुबे और श्रेयांश को लक्ष्मण, जबकि मरियम खान और शिवा सिंह को रानी लक्ष्मीबाई पुरस्कार से नवाजा गया।लक्ष्मण पुरस्कार से नवाजे जाने वाले खिलाडिय़ों में जकार्ता एशियाई खेल के निशानेबाज मेरठ के सौरभ चौधरी, जैवलिन थ्रोअर चंदौली के शिवपाल सिंह, अंतरराष्ट्रीय टेबल टेनिस खिलाड़ी कानपुर के अभिषेक यादव, जूनियर भारतीय हॉकी टीम के कप्तान रहे गोरखपुर के दिवाकर राम, मेरठ के तीरंदाज चमन सिंह, लखनऊ के हैैंडबाल खिलाड़ी राहुल दुबे, सॉफ्ट टेनिस खिलाड़ी लखनऊ के श्रेयांश कुमार शामिल। इनके अलावा अंतरराष्ट्रीय पहलवान बागपत के राजीव तोमर और हापुड़ के निशानेबाज सतेंद्र कुमार को वेटरन वर्ग में लक्ष्मण पुरस्कार से सम्मानित किया गया। रानी लक्ष्मीबाई पुरस्कार से मेरठ की पारुल चौधरी, कानपुर की निशानेबाज अमृता पांडेय, अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी और भारतीय महिला हैैंडबॉल टीम की कप्तान लखनऊ की शिवा सिंह और लखनऊ की ही सॉफ्ट टेनिस खिलाड़ी मरियम खान को नवाजा गया। वेटरन वर्ग में पूर्व अंतरराष्ट्रीय हॉकी खिलाड़ी बरेली की रजनी जोशी दीक्षित को रानी लक्ष्मीबाई पुरस्कार से सम्मानित किया गया। 18 मंडलों में अटल आवासीय विद्यालय की सौगात दी गयी। मुख्यमंत्री जिलों से संबंधित योजनाओं का डिजिटल लोकार्पण भी किया गया। बलरामपुर मेडिकल कॉलेज, एसजीपीजीआई और बलरामपुर ट्राइबल म्यूजियम का भी शिलान्यास किया गया। खादी बोर्ड से संबंधित एमओयू भी किया गया।