मुख्यमंत्री तथा केन्द्रीय रक्षा मंत्री ने डेफएक्सपो-2020 हेतु की गई तैयारियों की समीक्षा की

वेबवार्ता (न्यूज एजेंसी)/अजय कुमार वर्मा
लखनऊ 5 जनवरी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी तथा केन्द्रीय रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह जी ने आज यहां मुख्यमंत्री जी के सरकारी आवास पर आगामी 05 से 09 जनवरी, 2020 को लखनऊ में आयोजित की जा रही डेफएक्सपो-2020 के लिए अब तक की गई तैयारियों की संयुक्त रूप से समीक्षा की। 



 इस अवसर पर मुख्यमंत्री जी ने समीक्षा बैठक को सम्बोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा वर्ष 2018 में उत्तर प्रदेश में डिफेंस इण्डस्ट्रियल काॅरिडोर (डी0आई0सी0) की स्थापना की घोषणा की गई थी। इस प्रकार उन्होंने उत्तर प्रदेश को रक्षा निर्माण गतिविधियों का हब बनाते हुए यहां बड़े पैमाने पर निवेश आकर्षित करने का अवसर प्रदान किया। उत्तर प्रदेश सरकार इस आयोजन को प्रभावी ढंग से सम्पन्न करने के लिए सभी प्रयास कर रही है। आज उत्तर प्रदेश वैश्विक मंच पर निवेश के उत्कृष्ट गंतव्य के रूप में उभर रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि डेफएक्सपो-2020 को राज्य सरकार निवेश आकर्षित करने तथा इसके माध्यम से प्रदेश में बड़े पैमाने पर रोजगार के अवसर सृजित करने के रूप में ले रही है। डेफएक्सपो-2020 को लखनऊ में आयोजित करने का निर्णय होते ही राज्य सरकार ने इसकी तैयारी शुरू कर दी थी। राज्य सरकार द्वारा आयोजकों को उपलब्ध करायी जाने वाली धनराशि का हिस्सा रिलीज कर दिया गया है।  
समीक्षा बैठक को सम्बोधित करते हुए केन्द्रीय रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह जी ने कहा कि डेफएक्सपो-2020 के सफल आयोजन के लिए मुख्यमंत्री जी के नेतृत्व में प्रदेश सरकार के सभी अधिकारी गम्भीरता से प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने आशा व्यक्त की कि यह आयोजन यादगार रहेगा। बैठक के दौरान केन्द्रीय अधिकारियों की टीम ने डेफएक्सपो-2020 की तैयारियों के सम्बन्ध में विस्तार से प्रस्तुतीकरण किया।
बैठक के दौरान मुख्यमंत्री जी तथा केन्द्रीय रक्षा मंत्री जी द्वारा डेफएक्सपो-2020 के सम्बन्ध में एक लघु फिल्म को रिलीज भी किया गया। 
 इस अवसर पर राज्य सरकार की ओर से औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना, अपर मुख्य सचिव वित्त संजीव मित्तल, अपर मुख्य सचिव नियोजन कुमार कमलेश, अपर मुख्य सचिव सचिवालय प्रशासन  महेश कुमार गुप्ता, अपर मुख्य सचिव वाणिज्य कर एवं सूचना प्रौद्योगिकी आलोक सिन्हा, पुलिस महानिदेशक ओ0पी0 सिंह, प्रमुख सचिव अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास श्री आलोक कुमार सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे। केन्द्रीय अधिकारियों में रक्षा सचिव डाॅ0 अजय कुमार, विशेष सचिव (रक्षा उत्पादन) बरुण मित्रा, संयुक्त सचिव चन्द्राकर भारती सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।