मुख्यमंत्री ने मण्डलायुक्तों के साथ स्मार्ट सिटी मिशन तथा अमृत मिशन के कार्यों की समीक्षा की


वेबवार्ता(न्यूज़ एजेंसी)/अजय कुमार वर्मा
लखनऊ 04 जनवरी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि वर्तमान सरकार आमजन को बेहतर सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए कृतसंकल्पित हैं। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित करते हुये कहा कि प्रत्येक कार्य की कार्ययोजना बनाकर उसे मूर्तरूप दें। उन्होंने कहा कि मण्डलायुक्त मण्डल के अन्दर एक प्रमुख प्रशासनिक वाला पद है। इसे अपने कार्यों के माध्यम से यादगार बनाने का काम करें। मण्डलायुक्त त्वरित निर्णय लेकर मण्डल की तस्वीर को बदल सकता है।
मुख्यमंत्री आज यहां अपने सरकारी आवास पर प्रदेश के सभी मण्डलायुक्तों के साथ स्मार्ट सिटी मिशन तथा अमृत मिशन के कार्यो की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने सहारनपुर, मुरादाबाद, झांसी, बरेली, लखनऊ, प्रयागराज तथा अलीगढ़ की स्मार्ट सिटी परियोजना के संदर्भ में सम्बन्धित मण्डलायुक्तों को निर्देशित किया कि इन महानगरों में योजना सम्बन्धी कार्याें को गति दें। उन्होंने समस्त मण्डलायुक्तों को निर्देशित किया कि वे जनपद के प्रत्येक विभाग की मासिक समीक्षा करें और इसकी सूचना मुख्यमंत्री कार्यालय को भी दें। उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि सभी कार्य गुणवत्तापरक ढ़ंग से समय पर सम्पादित हो। उन्होंने कहा कि वित्तीय वर्ष 2019-20 में स्मार्ट सिटी मिशन में प्रदेश के चयनित 05 शहर देश के टाॅप टेन स्मार्ट सिटी में अपना स्थान बनाये।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि मण्डलायुक्त व शासन के अधिकारी आपस में बेहतर संवाद रखंे। जिससे किसी प्रकार की अनिश्चितता की स्थिति न रहे। उन्होंने मण्डलायुक्तों को निर्देशित किया कि वे ग्रामीण क्षेत्रों के विकास के लिए सम्बन्धित जनपदों के मुख्य विकास अधिकारी तथा जिला पंचायतराज अधिकारी के साथ ठोस कार्ययोजना बनाकर कार्य करें। 
इस अवसर पर नगर विकास मंत्री आशुतोष टण्डन, नगर विकास राज्यमंत्री महेश गुप्ता, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एस0पी0 गोयल, प्रमुख सचिव नगर विकास मनोज कुमार सिंह तथा अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।