मायावती के ट्वीट पर सिद्धार्थ नाथ सिंह का पलटवार

- झूठ की पोल खुल न जाये इस वजह से CAA पर बहस करने से डर रहीं मायावती- श्री सिद्धार्थ नाथ सिंह


वेबवार्ता(न्यूज़ एजेंसी)/अजय कुमार वर्मा
 लखनऊ 24 जनवरी। उत्तर प्रदेश के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम, निर्यात एवं निवेश प्रोत्साहन मंत्री व सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थ नाथ सिंह ने मायावती के ट्वीट पर पलटवार करते हुए कहा है कि लखनऊ यूनिवर्सिटी के छात्र लोकतांत्रिक तरीके से शांतिपूर्वक CAA पर संवाद करना चाहते हैं तो बसपा प्रमुख आपत्ति जता रही हैं लेकिन जब जेएनयू, एएमयू में देशविरोधी नारे लगते हैं, देश तोड़ने की खुली धमकी मिलती है, टुकड़े टुकड़े गैंग सड़कों पर उत्पाद मचाती है, पत्थरबाजी होती है तब इन्होंने चुप्पी साध रखी थी।
      श्री सिंह ने आगे कहा कि अलोकतांत्रिक तरीके से उन्मादी सड़कों पर उतर आगजनी कर रहे थे तब बसपा प्रमुख ने एक बार भी विरोध नहीं किया। उस दौरान नहीं कहा कि मामला कोर्ट में है, आप सभी को शांतिपूर्वक कोर्ट के फैसले का इंतजार करना चाहिए। इससे स्पष्ट होता है कि मायावती और विपक्ष को डर है कि बहस के बाद से उनके द्वारा CAA के बारे में फैलाए गए भ्रम व झूठ की पोल खुल जाएगी, षड्यंत्रकारियों का पर्दाफाश हो जाएगा।
      उन्होंने आगे कहा कि मायावती सत्ता में आने का सपना देख रही है। उनका कहना है कि बसपा सत्ता में आएगी तो नागरिकता संसोधन कानून नहीं लागू रहेगा। वो खुद संवैधानिक पद पर रह चुकी हैं, लेकिन संविधान उन्होंने नहीं पढ़ा उनकी बयानबाजी से ऐसा लग रहा। जब पार्लियामेंट से बिल पास हो चुका है तो उसे लागू होने से कोई कैसे रोक सकता है।