खनन पट्टों में अनियमितता पाये जाने पर जिलाधिकारी को जांच कराने के निर्देश - डा0 रोशन जैकब

वेबवार्ता(न्यूज़ एजेंसी)/अजय कुमार वर्मा 
लखनऊ 07 जनवरी। उत्तर प्रदेश की भूतत्व एवं खनिकर्म निदेशक डा0 रोशन जैकब ने जनपद फतेहपुर के जिलाधिकारी को फतेहपुर में संचालित 02 खनन पट्टों में बंशीधन कंसट्रक्शन प्रा0 लि0, प्रो0 राम प्रसाद राय, खण्ड सं0ए-10 तथा मे0 देवयश प्रोजेक्ट्स, प्रो0 संजय त्यागी, खण्ड सं0-आर0के0-1ए, रामनगर कौहन के विरुद्ध टीम का गठन कर स्वीकृत खनन पट्टा क्षेत्रों की स्थलीय जांच कराने के निर्देश दिये हैं। 
डा0 जैकब ने बताया कि निदेशालय में स्थापित यूनिफाइड रेवेन्यू कमाण्ड सेन्टर द्वारा फतेहपुर में संचालित दोनों खनन पट्टों की जांच ड्रोन सर्विलांस द्वारा करायी गयी। जांच के दौरान मे0 कंसट्रक्शन प्रा0 लि0 के स्वीकृत खनन पट्टा क्षेत्र से बाहर अवैध खनन कार्य किये जाने के पिट्स देखे गये तथा नदी की जल धारा की तरफ मशीन द्वारा खनन कार्य किया जाना पाया गया। इसी प्रकार मे0 देवयश प्रोजेक्टस के पट्टा क्षेत्र से उपखनिजों का परिवहन करने वाले वाहनों (ट्रेक्टरों) द्वारा बालू/मोरम का परिवहन निर्धारित से अधिक मात्रा में किया पाया गया। दोनो खनन पट्टा क्षेत्रों में सीमा स्तम्भ नहीं लगाये गये, जो आपत्तिजनक है।
डा0 जैकब ने जिलाधिकारी फतेहपुर को निर्देशित किया है कि संबंधित पट्टाधारकों के विरुद्ध अनियमितताओं के दृष्टिगत अपने स्तर से टीम का गठन करें और स्वीकृत खनन पट्टा क्षेत्रों की स्थलीय जांच कराते हुए संबंधित पट्टाधारकों के विरुद्ध उ0प्र0 उपखनिज (परिहार) नियमावली-1963 में विहित प्राविधानों के अंतर्गत नियमानुसार आवश्यक कार्यवाही की जाय। उन्होंने कृत कार्यवाही से निदेशालय को भी एक सप्ताह में अवगत कराने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने यह भी निर्देश दिये हैं कि खान अधिकारी द्वारा पर्यवेक्षणीय कार्य में शिथिलता बरतने के संबंध में उनसे स्पष्टीकरण प्राप्त करना सुनिश्चित किया जाये। - आशिया खातून