एसडीआरएफ ने खोजा 5 दिन पूर्व गोमती में डूबे छात्र का शव

- शव मिलते ही बेसुध हो गई मां, बिलख रही बहनें
वेबवार्ता(न्यूज़ एजेंसी)/अजय कुमार वर्मा
लखनऊ दिनांक 24 जनवरी। 4 दिन पूर्व घर से लापता हुए कक्षा 11 के छात्र का शव एसडीआरएफ टीम ने गोताखोरों की मदद से गोमती नदी से आखिरकार खोज  निकाला।



       जानकारी के मुताबिक लखनऊ के ही चारबाग के सुदामापुरी निवासी शांति प्रसाद मिश्रा का 17 वर्षीय पुत्र मोहित मिश्रा अपने मामा संजय तिवारी के यहां रहकर पढ़ाई कर रहा था! 19 जनवरी की रात परिजनों के साथ खाना खाकर कमरे में सोने चला गया, सुबह ममेरा भाई में स्कूल चलने की कहने पहुंचा तो वह कमरे से गायब था। परिजनों ने सोचा शायद कहीं पास में ही गया होगा लेकिन काफी देर तक वापस ना लौटने पर  खोजबीन की गई। किशोर के गोमती नदी में डूबने  की खबर समाचार पत्रों में प्रकाशित होने के बाद परिजनों को आशंका हुई कि नदी में डूबा हुआ किशोर शायद उनका ही बेटा हो। जिसके बाद से एसडीआरएफ की टीम प्लाटून कमांडर धर्मेंद्र तिवारी के नेतृत्व में गोताखोरों के साथ सर्च अभियान चला रही थी 5 दिन बाद टीम ने थंडरिंग मेथड का प्रयोग कर मोहित मिश्रा के शव को खोज निकाला। टीम प्रभारी ने बताया कि डेड बॉडी नदी में नीचे दब गई थी, अथक प्रयास के बाद टीम को सफलता मिली। शव मिलने पर में कोहराम मच गया। मां, बहन, बड़े भाई का रो रो कर बुरा हाल था!
सूबेदार सैन्य सहायक अखिलेश शर्मा के मुताबिक उड़ीसा से विशेष प्रशिक्षण प्राप्त टीम के स्पेशल गोताखोरों ने अहम भूमिका निभाई है।
 मृतक के मामा संजय,विश्वनाथ तिवारी के अनुसार उनका भांजा जनपद गोंडा के थाना कौड़िया क्षेत्र निवासी था, उसके पिता की मृत्यु भी लगभग 4 वर्ष पूर्व हो चुकी है! वह शहर के पायनियर इंटर कॉलेज में कक्षा 11 का छात्र था! अक्सर वह परिजनों से भी कम बात किया करता था, बड़ी 02 बहनों का विवाह हो चुका है, मृतक भाई बहनों में चौथे नंबर का था।
 फोटो परिचय
01-मृतक मोहित की डेड बॉडी निकालते एसडीआरएफ जवान!


02-मृतक का फाइल फोटो!