अमित शाह द्वारा नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन में आयोजित जन-सभा में दिए गए उद्बोधन के मुख्य बिंदु

वेबवार्ता/अजय कुमार वर्मा 
लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आजादी के 70 सालों से पीड़ित विस्थापितों को उनके जीवन का नया अध्याय शुरू करने का अवसर दिया है। मैं डंके की चोट पर कहना चाहता हूँ कि जिस किसी को भी विरोध करना है, करें लेकिन सीएए वापस नहीं होने वाला
’’’’’’’’’’’’’’’’’
जम्मू-कश्मीर में धारा 370 और 35ए लागू कर पंडित जवाहरलाल नेहरू ने जो गलती की थी, उसे सुधारते हुए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने 05 अगस्त 2019 को धारा 370 को खत्म कर दिया। धारा 370 और 35ए का उन्मूलन जम्मू-कश्मीर को आतंकवाद मुक्त राज्य की दिशा में ले जाएगा
’’’’’’’’’’’’’’’’’
चाहे धारा 370 का विषय हो, सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक हो या फिर सीएए, मुझे समझ नहीं आता कि राहुल गाँधी, अखिलेश यादव, बहन मायावती, ममता बनर्जी और कम्युनिस्ट पार्टी के नेताओं की भाषा पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से क्यों मिलती है! आखिर इन लोगों का इमरान खान से संबंध क्या है?
’’’’’’’’’’’’’’’’’
हम श्रीराम जन्मभूमि पर जल्द से जल्द प्रभु श्रीराम के भव्य मंदिर के पक्ष में थे तो कांग्रेस इसे सुप्रीम कोर्ट में लटकाए रखना चाहती थी। जब तक कांग्रेस सत्ता में रही, भगवान् श्रीराम का मंदिर बनने नहीं दिया गया। जब भी सुप्रीम कोर्ट में इस विषय को लेकर सुनवाई होती थी तो कांग्रेस सुनवाई की राह में लटकाए रखती थी
’’’’’’’’’’’’’’’’’
केंद्र में जब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी की पूर्ण बहुमत की सरकार आई और सुप्रीम कोर्ट में जल्दी-जल्दी सुनवाई हुई और अब कुछ ही महीनों में भगवान् रामलला के जन्मस्थान पर अयोध्या में भगवान् श्रीराम का भव्य मंदिर बनने वाला है
’’’’’’’’’’’’’’’’’
जैसे ही अयोध्या में भगवान् श्रीराम का भव्य मंदिर बनेगा, हम सबका जीवन धन्य हो जाएगा क्योंकि हम अपने जीवन काल में ही भगवान् रामलला का मंदिर बना हुआ देख पायेंगे
’’’’’’’’’’’’’’’’’
वेबवार्ता/अजय कुमार वर्मा 
लखनऊ। केंद्रीय गृह मंत्री एवं भारतीय जनता पार्टी के निवर्तमान अध्यक्ष श्री अमित शाह ने उत्तर प्रदेश की राजधानी के बंगला बाजार इलाके के रामकथा पार्क में नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन में देश भर में भारतीय जनता पार्टी द्वारा चलाये जा रहे देशव्यापी जन-जागरण अभियान के तहत आयोजित एक विशाल जन-सभा को संबोधित किया और कहा कि जिन्हें भी नागरिकता संशोधन विधेयक का विरोध करना है, करें लेकिन सीएए वापिस नहीं होने वाला। कार्यक्रम को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष श्री स्वतंत्र देव सिंह और उप-मुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य जी, उप-मुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा जी ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर उत्तर प्रदेश के प्रदेश महामंत्री (संगठन) श्री सुनील बंसल एवं सरकार के कई मंत्रीगण, पार्टी विधायक, सांसद और पार्टी पदाधिकारी उपस्थित थे। केंद्रीय गृह मंत्री जी के आह्वान पर सभा में उपस्थित जन-समुदाय ने टोल फ्री नंबर 8866288662 डायल करके नागरिकता संशोधन कानून को अपना समर्थन दिया।
श्री शाह ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून पर दुष्प्रचार कर, भ्रम फैला कर, देश को तोड़ने वालों के खिलाफ भाजपा देशव्यापी जन-जागृति अभियान लेकर निकली है। लोकतंत्र के मंदिर देश की संसद ने नागरिकता संशोधन कानून लागू किया लेकिन राहुल गाँधी एंड कंपनी, अखिलेश यादव, बहन मायावती, ममता बनर्जी और कम्युनिस्ट नेता इसका विरोध करते हुए ये दुष्प्रचार कर रहे हैं कि देश के मुसलमानों और अल्पसंख्यकों की नागरिकता चली जायेगी। मैं सीएए का विरोध कर रहे इन सभी नेताओं को चुनौती देता हूँ कि यदि आपमें हिम्मत है तो आप कोई भी सार्वजनिक मंच ढूंढें, हमारे प्रदेश अध्यक्ष आपसे नागरिकता संशोधन कानून पर बहस करने के लिए तैयार हैं। सीएए की कोई भी धारा मुसलमान और अल्पसंख्यक तो छोड़ें, किसी एक व्यक्ति की भी नागरिकता छीनने के लिए नहीं है। यदि नागरिकता संशोधन कानून की किसी भी पंक्ति में एक भी व्यक्ति की नागरिकता जाने का सवाल हो तो दिखाएँ। उन्होंने कहा कि जान-बूझकर जनता द्वारा नकारी गई कुछ विपक्षी पार्टियों द्वारा सीएए पर भ्रम फैलाया जा रहा है, दंगे भड़काये जा रहे हैं, आगजनी की जा रही है। सीएए किसी की भी नागरिकता लेने का कानून नहीं बल्कि यह तो पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से अपनी अस्मिता और धार्मिक संस्कार को अक्षुण्ण रखने हेतु अपनी जान बचा कर भारत आये हिंदू, सिख, बौद्ध, जैन, ईसाई और पारसी शरणार्थियों को हिंदुस्तान की नागरिकता देने का कानून है।
केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि राहुल गाँधी कान खोल कर सुन लें, कांग्रेस के पाप के कारण ही धर्म के आधार पर भारत माँ के दो टुकड़े हुए। नेहरू-लियाकत समझौते के तहत भारत में तो अल्पसंख्यक फले-फूले और आगे बढ़े जबकि पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों पर भीषण अत्याचार हुए। पाकिस्तान में हिंदुओं की आबादी महज 3 प्रतिशत और बांग्लादेश में 7 प्रतिशत ही रह गई है। सीएए का विरोध करने वाले बताएं कि आखिर ऐसा क्यों हुआ? अफगानिस्तान में सिख खत्म होने के कगार पर हैं। अफगानिस्तान में विश्व के शांति दूत भगवान् बुद्ध की प्रतिमा को गोले दागकर तोड़ दिया गया। पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में अल्पसंख्यकों पर भीषण अत्याचार का सिलसिला आजादी के बाद से ही चल रहा है। एक फैशन की तरह मानवाधिकार का लबादा ओढ़े ह्यूमन राइट्स के तथाकथित चैंपियन तब कहाँ थे जब पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में अल्पसंख्यकों पर अत्याचार हो रहे थे। इन ह्यूमन राइट्स के चैम्पियनों के मुंह से एक शब्द भी नहीं निकला जब कश्मीरी पंडितों को अपने ही देश में विस्थापित कर शरणार्थी बनने पर मजबूर कर दिया गया। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने आजादी के 70 सालों से पीड़ित विस्थापितों को उनके जीवन का नया अध्याय शुरू करने का अवसर दिया है। मैं डंके की चोट पर कहना चाहता हूँ कि जिस किसी को भी विरोध करना है, करें लेकिन सीएए वापस नहीं होने वाला।
श्री शाह ने कहा कि मैं नागरिकता संशोधन कानून का विरोध कर रहे लोगों से कहना चाहता हूँ कि वे देश में रह रहे शरणार्थियों के कैंप में जाएँ और उनकी जिंदगी देखें कि वे किस कष्ट में अपना जीवन यापन कर रहे हैं। वास्तव में कांग्रेस, सपा, बसपा, तृणमूल, राजद, कम्युनिस्ट जैसी पार्टियों के नेताओं की आँख पर वोट बैंक की पट्टी पड़ी हुई है। ये लोग हमारी बात न सुनें, ये तो समझ में आता है लेकिन ये अपने ही नेताओं की बात न सुनें तो इसे क्या कहा जाए? उन्होंने कहा कि महात्मा गाँधी, पंडित जवाहरलाल नेहरू, डॉ राजेन्द्र प्रसाद, सरदार पटेल, आचार्य कृपलानी, इंदिरा गाँधी से लेकर डॉ मनमोहन सिंह तक, सभी नेताओं ने पाकिस्तान और बांग्लादेश से आये पीड़ित अल्पसंख्यक शरणार्थियों को भारत में बसाने और उन्हें सम्मान पूर्वक जीवन जीने का मौका देने की वकालत की थी लेकिन आज कांग्रेस वोट बैंक की लालच में अंधी हो चुकी है। उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव तो ज्यादा न ही बोलें तो अच्छा है क्योंकि वे किसी विषय को पढ़ते तो हैं नहीं, बस सुनी-सुनाई बातों को लेकर भाषण दे देते हैं। केवल कोरी राजनीति के लिए अखिलेश यादव ऐसे बयान न दें क्योंकि उत्तर प्रदेश का चप्पा-चप्पा देश विरोधी किसी भी चीज को कभी स्वीकार नहीं करेगी। ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि मुझे यह समझ में नहीं आता कि मतुआ और नामशूद्र दलित बंगाली शरणार्थियों से ममता बनर्जी को क्या तकलीफ है कि वह इन शरणार्थियों के अधिकारों के खिलाफ खड़ी हो गई हैं। ममता दीदी ने स्वयं 2003 में संसद में बांग्लादेशी शरणार्थियों को भारत की नागरिकता देने की मांग की थी। पिछले वर्ष हुए राजस्थान विधान सभा चुनाव के कांग्रेस के घोषणापत्र के 34वें बिंदु में कांग्रेस पार्टी ने पाकिस्तान से आये हिंदू और सिख को भारत की नागरिकता देने का वादा किया था लेकिन आज कांग्रेस पार्टी इसका विरोध कर रही है। कांग्रेस पाकिस्तान से आये हिंदू और सिख शरणार्थियों को भारत की नागरिकता दे तो अच्छा लेकिन प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी इस दिशा में कदम उठाएं तो गलत, ये किस तरह की राजनीति है? उन्होंने कहा कि हमारा स्टैंड कभी भी बदलता नहीं है। हम विपक्ष में रहते हैं, तब भी देश हित की बात करते हैं और आज जनता ने हमें सेवा करने का अवसर दिया हुआ है, तब भी हम देश हित के लिए ही लड़ रहे हैं।      
गृह मंत्री ने कहा कि केवल सीएए पर ही नहीं, कांग्रेस, राजद, सपा, बसपा, तृणमूल, आप पार्टी और वामपंथी पार्टियां हमेशा ही देश हित के मुद्दों पर वोट बैंक की पॉलिटिक्स के तहत विरोध करती रही है। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर में धारा 370 और 35ए लागू कर पंडित जवाहरलाल नेहरू ने जो गलती की थी, उसे सुधारते हुए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने 05 अगस्त 2019 को धारा 370 को खत्म कर दिया और आज तिरंगा शान के साथ जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में लहरा रहा है। धारा 370 और 35ए का उन्मूलन जम्मू-कश्मीर को आतंकवाद मुक्त राज्य की दिशा में ले जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने धारा 370 और 35ए को खत्म किया तो राहुल गाँधी ने इसका विरोध किया। हमने पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद को खत्म करने के लिए सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक किया तो कांग्रेस, सपा, तृणमूल और वामपंथी पार्टियों ने इसके सबूत भी मांगे और इसका भी विरोध किया। इन पार्टियों ने कहा कि गुमराह लोगों को क्यों मारते हो? यदि आपको इन गुमराह आतंकियों से इतना ही प्रेम है तो अपनी पार्टी की सदस्यता दिला दो। ये मोदी सरकार है, आतंकवाद को जड़ से उखाड़ने के लिए हम कृतसंकल्पित हैं।
आखिर कांग्रेस देश के विरोध में ऐसी हरकतें क्यों करती हैं? कांग्रेस टुकड़े-टुकड़े गैंग के समर्थन में खड़ी हो जाती है, राहुल गाँधी देशद्रोही नारे लगाने वालों के समर्थन में जेएनयू जा पहुँचते हैं, क्या देश को टुकड़े-टुकड़े करने का ख्वाब पाले बैठे लोगों को जेल में नहीं डाल देना चाहिए? ये मोदी सरकार है, हिंदुस्तान की धरती पर देशविरोधी नारे लगाने वालों की असली जगह जेल की सलाखों के पीछे ही होगी। बहन शाहबानों ने ट्रिपल तलाक के खिलाफ आवाज उठाई लेकिन वोट बैंक के लालचियों ने इसे मुस्लिम महिलाओं के समानता के अधिकार की अनदेखी करते हुए ट्रिपल तलाक को जारी रहने दिया। मुस्लिम देशों में भी ट्रिपल तलाक बैन है लेकिन भारत में ट्रिपल तलाक वैध था। देश की जनता ने जनादेश दिया और प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने इसे उखाड़ कर फेंक दिया। चाहे धारा 370 का विषय हो, सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक हो या फिर सीएए, मुझे समझ नहीं आता कि राहुल गाँधी, अखिलेश यादव, बहन मायावती, ममता बनर्जी और कम्युनिस्ट पार्टी के नेताओं की भाषा पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से क्यों मिलती है! आखिर राहुल गाँधी, अखिलेश यादव, बहन मायावती, ममता बनर्जी, कम्युनिस्ट पार्टी के नेताओं और इमरान खान में संबंध क्या है?
श्री शाह ने कहा कि हम श्रीराम जन्मभूमि पर जल्द से जल्द प्रभु श्रीराम के भव्य मंदिर के पक्ष में थे तो कांग्रेस इसे सुप्रीम कोर्ट में लटकाए रखना चाहती थी। लगभग 500 साल पहले आक्रमणकारियों ने मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान् राम के मंदिर को तोड़ दिया था। भगवान् राम के भव्य मंदिर के लिए कई जन-आंदोलन हुए, कई लोगों ने अपनी शहादत दी। जब तक कांग्रेस सत्ता में रही, भगवान् श्रीराम का मंदिर बनने नहीं दिया गया। जब भी सुप्रीम कोर्ट में इस विषय को लेकर सुनवाई होती थी तो कांग्रेस सुनवाई की राह में लटकाए रखती थी। केंद्र में जब प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी की पूर्ण बहुमत की सरकार आई और सुप्रीम कोर्ट में जल्दी-जल्दी सुनवाई हुई और अब कुछ ही महीनों में भगवान् रामलला के जन्मस्थान पर अयोध्या में भगवान् श्रीराम का भव्य मंदिर बनने वाला है। जैसे ही अयोध्या में भगवान् श्रीराम का भव्य मंदिर बनेगा, हम सबका जीवन धन्य हो जाएगा क्योंकि हम अपने जीवन काल में ही भगवान् रामलला का मंदिर बना हुआ देख पायेंगे।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि नागरिकता कानून (सीएए) के सम्बंध में दुष्प्रचार किया जा रहा है। पैसा देकर आगजनी करवाई जा रही है और धरना दिलवाकर लोगों को गुमराह किया जा रहा है, लेकिन झूठ के पांव नहीं होते, जो सत्य है वह सत्य ही रहेगा। वामपंथ की इस पीढ़ी को जड़ से उखाड़ फेंकने की जरूरत है। आज देश के खिलाफ साजिश हो रही है। कांग्रेस, सपा और अन्य विपक्षी दल देश के अंदर देश के दुश्मनों की भाषा बोल रहे हैं। ऐसे में हम मौन नहीं रह सकते।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मंगलवार को सीएए के समर्थन में राजधानी के बंगला बाजार इलाके के रामकथा पार्क में आयोजित भारतीय जनता पार्टी की क्षेत्रीय रैली को सम्बोधित कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने कहा कि मानवता के व्यापक हित में उठाए गए नागरिकता संसोधन कानून के विषय में हम सबको एक-एक व्यक्ति को बताना चाहिए कि यह कानून नागरिकता देने का है, छीनने का नहीं।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि देश सर्वोपरि है, उसके साथ किसी भी प्रकार की राजनीति स्वीकार नहीं की जाएगी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में दूसरी बार सरकार बनने पर देश की आकांक्षाओं को पूरा किया जा रहा है। आजादी के बाद कांग्रेस के पाप का परिमार्जन करने का कार्य गृहमंत्री अमित शाह के नेतृत्व में किया जा रहा है।
मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि कश्मीर से अनुच्छेद 370 की समाप्ति हो, 500 वर्षों से चले आ रहे राम मंदिर विवाद का हल हो, तीन तलाक की समाप्ति हो या फिर शरणार्थियों को नागरिकता देने का कार्य, ये सभी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह के नेतृत्व में हुए हैं। ये कार्य आजादी के बाद हो जाने चाहिए थे, लेकिन पिछली सरकारें हिम्मत नहीं कर पाईं।
इसके पूर्व पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने केन्द्रीय गृहमंत्री एवं भारतीय जनता पार्टी के निवर्तमान अध्यक्ष अमित शाह को लौहपुरूष बताते हुए रैली में स्वागत और अभिनंदन किया। श्री स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि शोषित, वंचित, पीड़ित, आदिवासी, दलित, पिछड़ो और अब गरीबों के हमदर्द माननीय अमित शाह जी ने देश को 70 सालों के कलंक से मुक्ति दिलाते हुए जम्मू-कश्मीर से धारा 370 व 35ए को समाप्त किया। उन्होंने कहा नागरिकता संशोधन अधिनियम 2019 के द्वारा मा. अमित शाह जी ने उन लोगों को नागरिकता दिये जाने का प्रावधान किया, जो वर्षो से नारकीय जीवन जीने को मजबूर थे। सीएए के माध्यम से पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से आये हिन्दू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई धर्म मानने वाले लोगों को नागरिकता मिलेगी और वे सम्मान के साथ अपना जीवन व्यतीत कर सकेंगे।
प्रदेश भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि उत्तर प्रदेश के बिजनौर में 2014 के लोकसभा के चुनावों में हुई एक रैली में मा. अमित शाह जी ने कहा था कि आपका एक वोट दो फायदे पहुंचायेगा। पहला फायदा केन्द्र में मा. नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में सरकार का गठन होगा जो विश्व में भारत को एक शक्तिशाली राष्ट्र के रूप में स्थापित करते हुए लोककल्याण के लिए कृतसंकल्पित होकर कार्य करेगी। दूसरा फायदा भ्रष्टाचार व गुण्डागर्दी से मुक्ति मिलेगी। यानि राज्य में भी भाजपा की सरकार बनेगी। स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि सीएए के समर्थन में आज उमड़े जनसैलाब से यह सिद्ध हो गया है कि राष्ट्र निर्माण की दिशा में मा. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केन्द्र सरकार द्वारा किये जा रहे निर्णयों को जनता का समर्थन है। श्री स्वतंत्र देव सिंह ने मा. अमित शाह जी का स्वागत व अभिनंदन करते हुए जनता से अपील की कि वे यू ही अपना प्यार व समर्थन मा. अमित शाह व भाजपा को देते रहे ताकि राष्ट्रहित में जो कार्य अभी शेष रह गये है उनको भी जल्दी पूरा किया जा सके।
प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने अपने संबोधन मे कहा कि 1947 में अगर देश का बंटवारा धर्म के आधार पर नहीं हुआ होता तो आज नागरिकता संशोधन अधिनियम की जरूरत ही नहीं पड़ती। उन्होंने देश के विभाजन को धर्म के आधार पर करने के लिए कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि कांग्रेस की गलत नीतियों का दंश देश की जनता ने दशको तक झेला है। उन्होंने कहा मा. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केन्द्र सरकार एक भारत, श्रेष्ठ भारत के संकल्प के साथ राष्ट्र निर्माण के लिए कार्य कर रही है। उन्होंने कहा नागरिकता संशोधन अधिनियम पर एक वर्ग को गुमराह करने में कांग्रेस, सपा सहित अन्य विपक्षी दल लगातार कोशिशे कर रहे है। उन्होंने कहा सीएए किसी की नागरिकता लेता नहीं है बल्कि यह कानून नागरिकता देने के लिए है।
प्रदेश के उपमुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा ने नागरिकता संशोधन बिल को राष्ट्रहित में बताते हुए कहा कि यह बिल किसी के भी विरोध में नहीं है। यह किसी के अधिकार को लेने वाला नहीं बल्कि शरणार्थियों को अधिकार प्रदान करने वाला बिल है। यह कानून पाकिस्तान बांग्लादेश व अफगानिस्तान से आए अल्पसंख्यक शरणार्थियों को देश की नागरिकता  प्रदान करने का मार्ग प्रशस्त करता है। डा. शर्मा ने कहा कि देश के गृहमंत्री माननीय अमित शाह जी भी साफ कर चुके हैं कि किसी भी मुसलमान के अधिकार कम नहीं होंगे। जो अधिकार पहले थे वह आज भी रहेंगे। उन्होंने कहा जम्मू-कश्मीर से धारा 370 व 35ए की समाप्ति, तीन तलाक जैसी कुप्रथा को खत्म करना और सीएए जैसे कार्य मा. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व गृहमंत्री अमित शाह की मजबूत प्रशासनिक क्षमता व राष्ट्र के हितों के प्रति समर्पण के कारण ही संभव हुए है। मा. प्रधानमंत्री जी व मा. अमित शाह जी हमेशा ही 130 करोड़ देशवासियों के कल्याण और विकास के लिए कार्य करते है।
रैली स्थल पर विभिन्न जिलों से आये शरणार्थियों ने केन्द्रीय गृहमंत्री व भाजपा के निर्वतमान राष्ट्रीय अध्यक्ष मा. अमित शाह जी से भेंट कर उनको पुष्पगुछ देकर नागरिकता संशोधन अधिनियम 2019 के लिए धन्यवाद देते हुए उनका आभार जताया।
केन्द्रीय गृहमंत्री व भाजपा के निर्वतमान राष्ट्रीय अध्यक्ष मा. अमित शाह जी का मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, उपमुख्मंत्री केशव प्रसाद मौर्य, डा0 दिनेश शर्मा, पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष जेपीएस राठौर व प्रदेश मंत्री अनूप गुप्ता ने किया। इस अवसर पर पार्टी के प्रदेश महामंत्री (संगठन) सुनील बंसल भी उपस्थित रहे। रैली का संचालन अवध क्षेत्र के अध्यक्ष सुरेश तिवारी ने किया।