सदफ जाफर से जेल में मिले अजय कुमार लल्लू सहित कांग्रेस के प्रमुख नेता 

वेबवार्ता(न्यूज़ एजेंसी)/अजय कुमार वर्मा 
लखनऊ 23 दिसंबर। उत्तर प्रदेश कांग्रेस की प्रवक्ता रहीं श्रीमती सदफ जाफर को शांतिपूर्ण प्रदर्शन के दौरान दिनांक 19 दिसम्बर को उत्तर प्रदेश की पुलिस द्वारा परिवर्तन चैक लखनऊ से गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था। आज उ0प्र0 कंाग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू एवं कांग्रेस विधानमंडल दल की नेता श्रीमतीे आराधना मिश्रा 'मोना' जी के साथ अन्य प्रमुख कांग्रेस नेतागणों ने प्रातः जेल पहुंचकर उनसे भेंट की। इस मौके पर श्रीमती सदफ जाफर ने बताया कि उनके साथ पुलिस द्वारा किस तरह की बर्बरता की गयी। गिरफ्तार करने के पश्चात पुरूष पुलिस सिपाहियों ने उनको बहुत बुरी तरह मारा-पीटा, उनके हाथ-पैर और पेट में गंभीर चोटें आयीं हैं। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने इस मामले को बहुत गंभीरता से लिया है और इस बात पर रोष व्यक्त किया कि अभी तक समुचित चिकित्सीय सुविधा भी उपलब्ध नहीं करायी गयी है।
        अजय कुमार लल्लू ने यह भी मांग की है कि जिस तरह से पुलिस शांतिपूर्ण ढंग से प्रदर्शन कर रही जनता पर बर्बर लाठीचार्ज एवं उनके घरों में घुसकर उन्हें प्रताड़ित कर रही है एवं पुलिस पर यह आरोप भी जनता द्वारा लगाया जा रहा है कि पुलिस ने निहत्थी जनता पर गोली भी चलाई है, इन सब की जांच तुरन्त एक न्यायिक जांच समिति द्वारा कराई जाए।
         प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि लोकतंत्र में आज भाजपा के पास केवल तन्त्र बचा है लोग उनके खिलाफ सड़कों पर उतरकर संघर्ष कर रहे हैं। संविधान की रक्षा के लिए चलाए जा रहे इस आन्दोलन में शांतिपूर्वक प्रदर्शन कर रही जनता के साथ कांग्रेस पार्टी मजबूती के साथ खड़ी है। उन्होने कहा कि कांग्रेस जन इस बात के लिए दृढ़ संकल्पित हंै कि वह कांग्रेस अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी जी, राहुल गांधी जी एवं कांग्रेस महासचिव श्रीमती प्रियंका गांधी जी के नेतृत्व में इस तानाशाही सरकार के खिलाफ संघर्ष करने के लिए पूरी तरह तत्पर हैं। उन्होने कहा कि जब-जब सरकार जनता की जायज मांगों का दमन करेगी तो जनता के हितों के साथ कांग्रेस पार्टी हमेशा खड़ी रहेगी।