प्रवर्तन कार्यों में तेजी लाते हुए राजस्व प्राप्तियों के निर्धारित लक्ष्य पूरे किए जाएँ सुरेश कुमार खन्ना


वेबवार्ता/अजय कुमार वर्मा 
लखनऊ। प्रदेश के वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने आज यहां विधान भवन में कर-करेत्तर राजस्व प्राप्तियों की समीक्षा की। वित्त मंत्री ने जी.एस.टी. एवं वैट, आबकारी, स्टाम्प तथा निबन्धन, परिवहन, भू-राजस्व एवं ऊर्जा विभाग से प्राप्त कर राजस्व की समीक्षा की। वित्तीय वर्ष 2019-20 में कर राजस्व के वार्षिक लक्ष्य 140258.59 करोड़ के सापेक्ष माह नवम्बर तक 57.5 प्रतिशत की प्राप्ति हुयी है। 
वित्त मंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि निर्धारित लक्ष्य को पूरा किया जाना सुनिश्चित करायें। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया कि प्रवर्तन कार्यों में तेजी लायी जायी जाये। साथ ही कर चोरी पर प्रभावी नियंत्रण करें। परिवहन विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिया कि डग्गामारी को बन्द करते हुए इस पर पूर्ण नियंत्रण करें। परमिट की संख्या बढ़ायी जाए। स्टाम्प एवं निबन्धन विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिया कि ई-स्टाम्प को बढ़ावा दिया जाय।
वित्त मंत्री ने निर्देश दिए कि टैक्स संबंधी नोटिस भेजने की समय सीमा निर्धारित कर तय समय सीमा में नोटिस भेजी जाय। प्रत्येक खण्ड के लिए लक्ष्य निर्धारित किया जाय। राजस्व प्राप्तियों की साप्ताहिक समीक्षा की जाय और प्राप्तियों को बढ़ाया जाय।
बैठक के उपरान्त वित्त मंत्री ने वाणिज्य कर विभाग द्वारा मुद्रित वार्षिक प्रतिवेदन 2018-19 पुस्तिका का विमोचन भी किया। इस दौरान अपर मुख्य सचिव वित्त श्री संजीव मित्तल सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे।= जयेन्द्र सिंह