नागरिकता संशोधन बिल ने देश के आम नागरिकों में मानसिक उबाल पैदा कर दिया : सुरेन्द्रनाथ त्रिवेदी


वेबवार्ता(न्यूज़ एजेंसी)/अजय कुमार वर्मा
लखनऊ 11 दिसम्बर। राष्ट्रीय लोकदल के प्रदेष प्रवक्ता सुरेन्द्रनाथ त्रिवेदी ने कहा कि नागरिकता संषोधन बिल लाकर भारतीय जनता पार्टी ने देष के आम नागरिकों में मानसिक उबाल पैदा कर दिया है साथ ही साथ संसद के दोनो सदनों लोकसभा और राज्य सभा में कुछ छदमवेष धारी राजनैतिक दलों का दोहरा चरित्र उजागर कर दिया है। ऐसे छदमवेष धारी दल संसद से बाहर मुस्लिम वर्ग के वोट बंैक के लिए दिखावे के रूप में उनके गम में गोते लगाते रहते हैं परन्तु वास्तविकता कुछ और रहती है।
श्री त्रिवेदी ने आगे कहा कि अपने देष के पूर्वोत्तर राज्यों में इस बिल का पुरजोर विरोध और प्रदर्षन हो रहा है और भाजपा की असलियत पर चर्चाएं हो रही हैं। अमेरिका और युरोप जैसे देषों के अनेको संगठनों ने इस बिल के विरोध में अपने वक्तव्य दिये हैं। यहां पर यह भी उल्लेखनीय है कि सम्पूर्ण देष महिला उत्पीडन, मंहगाई भुखमरी, बेरोजगारी और बेकारी की चपेट में ग्रस्त है परन्तु केन्द्र सरकार आम जनता को राहत देने का कोई भी कदम नहीं उठा रही है तीन महीने से प्याज और पेट्रोल के दाम लगातार बढ रहे है लेकिन बढती मंहगाई की ओर कोई ध्यान नहीं है। ऐसे में नागरिकता संषोधन बिल लाकर देष की जनता का ध्यान उन मुददों की तरफ से हटा लिया गया है। यदि ध्यान से देखा जाय तो पूरे देष को पुनः विभाजन की ओर ले जाने का काम भाजपा कर रही है तथा वर्ग संघर्ष में जनता को ढकेल रही है।
रालोद प्रदेष प्रवक्ता ने कहा कि केन्द्र और प्रदेष सरकारों का यह दायित्व होता है कि आम जनजीवन में अमन चैन की स्थिति बनी रहे परन्तु वर्तमान केन्द्र सरकार देष का अमन चैन बर्बाद करने का प्रयास कर रही है जैसा कि पूर्र्वाेत्तर राज्यों में देखने को मिल रहा है। सबका साथ, सबका विकास और सबका विष्वास की दिखावटी बात करने वाली भाजपा का असली मुखौटा देष और विदेष में चर्चित हो रहा है। यहां यह भी कहना अप्रासंगिक न होगा कि विदेषों में लोकतांत्रिक हिन्दुस्तान की छवि धूमिल करने का कुचक्र केन्द्र सरकार द्वारा तैयार किया जा रहा है।