मुख्यमंत्री ने वाराणसी भ्रमण ने निर्माणाधीन महिला चिकित्सालय का आकस्मिक निरीक्षण किया

- मुख्यमंत्री ने सर्किट हाउस सभागार में बुनकरों से मिलकर उनकी समस्याओं की जानकारी प्राप्त की
वेबवार्ता (न्यूज़ एजेंसी)/अजय कुमार वर्मा 
बुलंदशहर 28 दिसंबर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पं0 दीन दयाल उपाध्याय राजकीय चिकित्सालय, वाराणसी में निर्माणाधीन 50 शैय्या के महिला चिकित्सालय का निर्माण कार्य मार्च-2020 तक प्रत्येक दशा में पूरा कराये जाने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा कि सुरक्षा मानकों का पालन सुनिश्चित कराते हुए मानक के अनुरूप गुणवत्ता के साथ निर्माण कार्य पूर्ण किया जाए।
     मुख्यमंत्री अपने दो-दिवसीय जनपद वाराणसी के भ्रमण के अवसर पर आज पाण्डेपुर स्थित पं0 दीन दयाल उपाध्याय राजकीय चिकित्सालय परिसर में निर्माणाधीन महिला चिकित्सालय का आकस्मिक निरीक्षण कर रहे थे। उन्होंने कार्यदायी संस्था राजकीय निर्माण निगम के परियोजना प्रबन्धक को निर्देशित किया कि 22 करोड़ रुपये की लागत से निर्माणाधीन इस चिकित्सालय के लम्बित कार्याें को युद्धस्तर पर अभियान चलाकर निर्धारित समय-सीमा में प्रत्येक दशा में पूरा करें।
निरीक्षण के दौरान मुख्यमंत्री ने पं0 दीन दयाल उपाध्याय राजकीय चिकित्सालय के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक से अस्पताल की व्यवस्था के बारे में जानकारी प्राप्त की। उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधीक्षक को निर्देशित किया कि चिकित्सालय में आने वाले प्रत्येक मरीज को उसकी आवश्यकतानुसार बेहतर से बेहतर निःशुल्क चिकित्सा सुविधा मुहैया करायी जाए। मरीजों के साथ चिकित्सकों एवं स्वास्थ्य कर्मियों का व्यवहार अच्छा हो। चिकित्सालय में समुचित सफाई व्यवस्था सुनिश्चित की जाए।
पं0 दीन दयाल उपाध्याय राजकीय चिकित्सालय में निरीक्षण के दौरान मुख्यमंत्री ने वहां पर दो बच्चों को देखा और रुक गए। दोनों बच्चों के सर पर हाथ फेरते हुए उन्होंने बच्चों से उनके अभिभावकों के बारे में जानकारी लेते हुए स्कूल न जाने की वजह पूछी। बच्चों ने जब ठंड के कारण स्कूल बंद होना बताया। मुख्यमंत्री जी ने दोनों के सर पर हाथ फेर कर उन्हें आशीर्वाद दिया। इससे पूर्व, शनिवार को मुख्यमंत्री ने सर्किट हाउस सभागार में बुनकर बंधुओं से मिलकर उनका कुशलक्षेम पूछने के साथ ही उनकी समस्याओं की भी जानकारी ली।
      इस अवसर पर नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन, पर्यटन, संस्कृति एवं धर्मार्थ कार्य राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ0 नीलकंठ तिवारी, स्टाम्प तथा न्यायालय शुल्क राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रविंद्र जायसवाल, विधायक सौरभ श्रीवास्तव सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।