मण्डी समितियों को अधिकाधिक सुदृढ़ और प्रभावी बनाया जायेगा - श्रीराम चैहान

वेबवार्ता (न्यूज़ एजेंसी)/अजय कुमार वर्मा 
लखनऊ 13 दिसम्बर| उत्तर प्रदेश कृषि उत्पादन मण्डी समितियों से किसानों को बेहतर अवस्थापना विकास की सुविधाएं मुहैया कराई जायेगी। मंडी समितियों को अधिकाधिक सुदृढ़ और प्रभावी बनाया जा रहा है, ताकि सभी किसान अपने उत्पादों का विक्रय मण्डी समितियों के माध्यम से कर सकें।
यह बात आज राज्य के कृषि निर्यात, कृषि विपणन एवं कृषि विदेश व्यापार राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्रीराम चैहान ने कही। उन्होंने बताया कि किसानों को मण्डी समितियों के माध्यम से प्लास्टिक क्रेट्स और व्यापारियों को प्लास्टिक शीट का वितरण निःशुल्क किया जा रहा है। इसके वितरण की कार्यवाही तेजी से करने के निर्देश अधिकारियों को दिए गये हंै। उन्होंने बताया कि गत तीन वर्षों मेें मण्डी में सबसे अधिक मूल्य के फल-सब्जी लाने वाले किसानों से आरम्भ कर घटते क्रम में प्रत्येक किसान एवं व्यापारियों को क्रमशः चार-चार क्रेट्स एवं प्लास्टिक शीट निःशुल्क उपलब्ध कराये जा रहे हैं।
श्री चैहान ने बताया कि विशिष्ट श्रेणी की मण्डी के 500 किसानों को 2000 क्रेट्स (प्रत्येक किसान को चार) 'क' श्रेणी की मण्डी के 250 किसानों में एक हजार क्रेट्स (प्रत्येक किसान को चार) 'ख' श्रेणी की मण्डी के 200 किसानों को 800 क्रेट्स (प्रत्येक किसान को चार) तथा 'ग' श्रेणी के मण्डी के 150 किसानों में 600 क्रेट्स (प्रत्येक किसान को चार) का वितरण हो रहा है।
राज्य मंत्री ने बताया कि इसी प्रकार तीन कृषि वर्षों में अधिक मूल्य योग के निर्दिष्ट कृषि उत्पाद लाने वाले व्यापारी से आरम्भ कर घटते क्रम में मण्डी समिति द्वारा प्लास्टिक शीट का वितरण किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि 'क' विशिष्ट श्रेणी की मण्डी के 100 व्यापारियों को 400, 'क' श्रेणी के 80 व्यापारियों को 320, 'ख' श्रेणी के मण्डी के 60 व्यापारियों को 240 तथा 'ग' श्रेणी की मण्डी समिति के 40 व्यापारियों को 160 (प्रत्येक व्यापारी को चार-चार) प्लास्टिक शीट का वितरण हो रहा है।-  अजय द्विवेदी