लखनऊ बार एसोसिएशन के नवनिर्वाचित महामंत्री जितेन्द्र सिंह ‘जीतू‘ ने अधिवक्ताओं के साथ अखिलेश यादव से भेंट की


वेबवार्ता (न्यूज़ एजेंसी)/अजय कुमार वर्मा 
बुलंदशहर 28 दिसंबर। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव से आज लखनऊ बार एसोसिएशन के नवनिर्वाचित महामंत्री जितेन्द्र सिंह 'जीतू' के साथ अधिवक्ताओं के एक दल ने भेंट की। अधिवक्ताओं के दल में संेट्रल बार एसोसिएशन के संयुक्त मंत्री नीरज कुमार यादव, लखनऊ बार एसोसिएशन के एजाज अहमद, मो0 आजम खान, फखरूल हसन चांद एवं अनुराग यादव 'अन्जू' शकील अहमद ताज खान पूर्व उपाध्यक्ष महानगर एवं सुधीर कुमार पूर्व नगर सचिव एवं श्री विकास यादव शामिल थे।
   अखिलेश यादव ने अधिवक्ताओं से वार्ताक्रम में कहा कि भारत के संविधान में जनता के जिन अधिकारियों की गारंटी दी गई है उनका अनुपालन करना सभी का कर्तव्य है। भाजपा सरकार ने संविधान की जो शपथ ली थी, उसकी निरंतर अवहेलना कर रही है। देश में नफरत और समाज को बांटने की साजिशें हो रही है। देश के साथ धर्मनिरपेक्षता और समाजवाद को बचाने की चुनौती है। समाजवादी पार्टी अधिवक्ताओं की इसमें प्रमुख भूमिका होने की बात मानती है। समाजवादी सरकार में अधिवक्ता कल्याण के कई कदम उठाए गए थे। पुनः समाजवादी सरकार बनने पर उनके हितों पर पूरा ध्यान दिया जाएगा।
    अखिलेश यादव ने कहा कि देश सबका है। देश सबको जान से प्यारा है। ना कोई किसी को निकाल सकता है ना कोई किसी को देश से जाने को कह सकता है। ये ताकत हमें संविधान ने दी है। इसे छीनने की कोशिश ना करे कोई। यूपी पुलिस द्वारा भाजपा और संघ की भाषा बोलना शर्मनाक है।
   अधिवक्ताओं ने कहा कि वे न्याय के लिए समाजवादी पार्टी के साथ रहेगे। वे इस तथ्य से अवगत है कि समाजवादी सरकार में ही उन्हे पर्याप्त सुविधाएं हासिल हुई थी।