इंस्पेक्टर ने एसएसपी का आदेश किया अनसुना, कहा कार्यवाही चाहिए तो कोर्ट जाओ

- इंस्पेक्टर बृजेश सिंह बना रहा तहरीर बदलने पर दबाव


- इसंपेक्टर बृजेश सिंह पीड़ित की तहरीर पर कार्यवाही के स्थान पर अभिषेक वर्मा और उसकी पत्नी को कर रहे सचेत  
वेबवार्ता(न्यूज़ एजेंसी)/अजय कुमार वर्मा 
लखनऊ 12 दिसम्बर। यूपी में अपराधों का ग्राफ एक बार फिर बढ़ता जा रहा है,वही अपने द्वारा किये गए गुडवर्कों को अब तक भुना रही है यही कारण है कि अपराधियों के हौसले और भी बुलंद होते जा रहे हैं,और पुलिस केवल कार्यवाही के नाम पर चेकिंग अभियान और गस्त की तस्वीरे सोशियल मिडिया  पर अपलोड करना  और इसी कार्य को लेकर अखबारों की सुर्ख़ियों में आना ही अब गुडवर्क समझ रही है |


यूपी से प्रेम प्रसंग को लेकर मारपीट,झगड़े और हत्याएं जैसी खबरे समय समय पर आती रहती है,जिसका स्टेटमेंट तैयार कर पुलिस खानापूर्ति कर देती है,वही कोई पीड़ित ऐसी शिकायत को लेकर थाने पर पहुंचे तो उसको फटकार लगा कर भगा देती है या इतना टहला देती है कि पीड़ित पुलिस से  न्याय की उम्मीद खो देता है और अन्य में किसी वारदात का शिकार हो जाता है |


ऐसा ही कुछ मामला राजधानी के गाजीपुर थाने का है,जहां शशि श्रीवास्तव को उनकी पत्नी के साथ अवैध संबंध रखने वाला दबंग अभिषेक वर्मा शशि और उसके बच्चों को जान से मारने की धमकी लगातार दे रहा है, लिखित तहरीर देने के बाद भी पुलिस हाथ पर हाथ धरे बैठी है ,और पीड़ित पूरी तरह से मानसिक दबाव में आ गया है |


मामला राजधानी के गाजीपुर थाना क्षेत्र के पटेल नगर विस्तार में रहने वाले शशि किरण श्रीवास्तव अपनी पत्नी और दो बच्चों के साथ रहंते है, उन्होंने बताया कि उनकी पत्नी का अवैध संबंध किसी अभिषेक वर्मा के साथ है जो राजधानी के कैंट थाना क्षेत्र के अर्जुनगंज में रहता है और एचसीएल में नाइट शिफ्ट में कार्य करता है | उन्होंने बताया कि शुरुआत में पड़ोसियों ने कि बार इसकी शिकायत की लेकिन उन्होंने ने कभी विशवास नहीं किया | परन्तु बीते अक्टूबर को एक दिन उन्होंने अपनी पत्नी के मोबाईल में किसी अन्य युवक के साथ अश्लील तस्वीरें देखी तो उनके कदमों के नीचे से जमीन खिंसक गई,पत्नी द्वारा अभिषेक के साथ की गई अश्लील चैट भी उन्होंने पढ़ी | पूरा मोबाईल चेक करने के बाद उन्हें पता चला कि उनकी पत्नी उस युवक के साथ होटल बुक कराकर वहां आलिंगन किया करते थे,साथ ही हुक्का पीना,शराब पीना आदि जैसी बाते भी की गई थी  |


इस संबंध में जानकारी होने के बाद उन्होंने अपनी पत्नी को की बार समझायाऔर अभिषेक को भी समझाते हुए ऐसा करने को मना किया ,लेकिन अभिषेक के हौसले बुलंद थे उसने शशि से ही गाली-गलौच किया और जान से मारने की धमकी दे डाली | इस संबंध में शशि ने बीते 7 नवंबर को गाजीपुर  थाने में लिखित शिकायत की गई परन्तु पुलिस ने किसी भी प्रकार की कार्यवाही नहीं की,और कई दिन तक थाने के चककर लगवाए | पूरा माह बीत गया लेकिन गाजीपुर थानध्यक्ष मठाधीशी में व्यस्त रहे |
शशि ने बताया कि 7 दिसंबर को समान खरीदने मार्केट गए हुए थे तब अभिषेक द्वारा भेजे दो अज्ञात बाइक सवार युवकों ने उनकी बाइक पर लात मारकर गिरा दिया साथ ही उन्हें व् उन के बच्चों को जा से मारने कि धमकी दी ,शशि के बाइक से गिरने पर पैर में गंभीर चोट आई,किरायदारों कि सहायता से उन्होंने लोहिया अस्पताल में अपना इलाज करवाया |


गाजीपुर थाने से हार मान चुके शशि न्याय के लिए एसएसपी लखनऊ कलानिधि नैथानी के कार्यालय भी पहुंचे जहां से थाने को जांच व् कार्यवाही करने के आदेश हुए,लेकिन मठाधीस थानाध्यक्ष ने एसएसपी के आदेश को भी किनारे कर दिया और कार्यवाही नहीं की | वही नसीहत देने लगे कि तुम्हारी बीवी राजी खुसी से सुंदर आदमी के साथ है,कार्यवाही चाहिए तो कोर्ट जाओ ,पीड़ित ने न्याय के लिए आइजी रेंज लखनऊ से न्याय की गुहार लगाई |


इंस्पेक्टर गाजीपुर उक्त मामले कार्यवाही नहीं कर रहे है बल्कि पैरवी करने में जुठेहुए है ,अभिषेक वर्मा और उसकी प्रेमी को फोन करके सचेत कर देते है  इस बात पर संदेह डालता है कि उन्होंने दूसरे पक्ष से किसी प्रकार का सांठगांठ कर ली है |