गरीबों की मदद करने की सोंच ही सच्चे भारतीय होने का पहचान है-शिवप्रकाश


- मातृ छाया फाउण्डेशन में वितरित किए गये निःशुल्क चश्मे व कम्बल


वेबवार्ता(न्यूज एजेंसी)/एसके सोनी
रायबरेली 8 दिसम्बर। माँ की याद में गरीबों की सेवा एक अच्छी सोंच व भारतीय संस्कृति को संजोए रखने का अच्छा साधन है, ऐसी सोंच रखने वाला पुत्र ही दुनिया में अपने को स्थापित करता है और समाज के लिए एक प्रेरणा का कार्य कर नई दिशा व दशा देने तथा गरीबों की सेवा के लिए प्रोत्साहित करता है। उक्त उद्गार महराजगंज क्षेत्र के अलीपुर प्राथमिक विद्यालय में माता की दूसरी पुण्यतिथि पर आयोजित कम्बल वितरण व निःशुल्क चिकित्सा सिविर में भाजपा के राष्ट्रीय सह संगठन मंत्री शिव प्रकाश ने व्यक्त किए। 



 मातृ छाया फाउण्डेशन के माध्यम से अलीपुर के दिनेश सिंह राठौर द्वारा अपनी माता की दूसरी पुण्यतिथि पर गरीबों की सेवा करने के उददेश्य से निःशुल्क चिकित्सा सिविर चश्मा वितरण व कम्बल वितरण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। प्राथमिक विद्यालय अलीपुर के प्रांगण में आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में राष्ट्रीय सह संगठन मंत्री शिव प्रकाश उपस्थित रहे। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए उन्होने कहा कि क्षेत्र के गरीबो की सेवा करना ही सच्ची सेवा है। उन्होने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का जिक्र करते हुए कहा कि हमारे प्रधानमंत्री भी गरीबों की सेवा करने के लिए हमेशा ही कार्य करते हैं। गरीबों का विकास ही उनकी पहली प्राथमिकता रहती है। कार्यक्रम में मुख्य रूप से एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह, पूर्व एमएलसी राजा राकेश प्रताप सिंह, जिलाध्यक्ष रामदेव पाल, पूर्व जिलाध्यक्ष दिलीप यादव, पशुपति शंकर बाजपेई , क्षेत्रीय विधायक रामनरेश रावत, दरियाबाद बाराबंकी विधायक सतीश शर्मा, पूर्व विधायक राजाराम त्यागी, जिला पंचायत सदस्य प्रभात साहू, अतुल सिंह, ब्लाक प्रमुख सत्येन्द्र प्रताप सिंह, विद्यासागर अवस्थी, लक्ष्मीशंकर श्रीवास्तव, मण्डल अध्यक्ष सूर्य प्रकाश वर्मा, जीबी सिंह, रविराज सिंह, मधुकर सिंह, शिवशंकर सिंह,अनुज मौर्य, मनीष सिंह, रणविजय सिंह, मोहित सिंह सहित लोग उपस्थित रहे। कार्यक्रम के अन्त में मातृ छाया फाउण्डेशन के संरक्षक किशन अग्रवाल ने आये हुए सभी अतिथियों को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए सभी का आभार प्रकट करते हुए कहा कि क्षेत्र का निर्धन व गरीब जिसे भी किसी प्रकार की चिकित्सीय आवश्यकता हो वह संस्था में पहुंच कर निःशुल्क लाभ ले सकता है और ऐसे कार्यक्रमों का आयोजन आगे भी होता रहेगा।