एस आर ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस में  NCERT एवं NIEPA, द्वारा NISHTHA आरम्भ


वेबवार्ता (न्यूज़ एजेंसी)/अजय कुमार वर्मा 
लखनऊ 10 दिसम्बर। बख्शी का तालाब स्थित एस आर ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस में आज मानव संसाधन विकास मंत्रालय, भारत सरकार, NCERT एवं NIEPA, द्वारा समग्र शिक्षा के अन्तर्गत एकीकृत सेवारत शिक्षक प्रशिक्षण कार्यक्रम (NISHTHA) को आरम्भ किया गया है।



इस प्रशिक्षण कार्यक्रम का उद्घाटन दिनाँक 10.12.2019 को मा0 बेसिक शिक्षा मंत्री श्री सतीश द्विवेदी जी द्वारा किया गया है। अन्य गणमान्य अतिथियों में , श्री विजय किरण आनन्द, महानिदेशक, स्कूली शिक्षा उ0प्र0, श्री हृषिकेश सेनापति, निदेशक, एन0सी0ई0आर0टी0, नई दिल्ली, श्री सर्वेन्द्र विक्रम बहादुर सिंह, निदेशक, बेसिक शिक्षा एवं निदेशक, राज्य शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद, उ0प्र0, लखनऊ, फारुख अंसारी, समन्वयक, NRG नई दिल्ली एवं प्रो0 रंजना अरोड़ा, नई दिल्ली , पवन सिंह चौहान, चेयरमैन एस आर ग्रुप  उपस्थित रहे।
उपर्युक्त कार्यक्रम के अन्तर्गत डायट, लखनऊ द्वारा दिनांक 10.12.2019 से 14.12.2019 तक 250 KRPs का पाँच दिवसीय व 13.12.2019 से 14.12.2019 तक 50 SRPs का दो दिवसीय प्रशिक्षण एस0आर0ग्रुप ऑफ इन्स्टीट्यूशन, मामपुर बाना, बी0के0टी0, लखनऊ में संपादित किया गया है। निदेशक, राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद, उ0प्र0, लखनऊ के संरक्षण में डा0 पवन कुमार सचान, उप शिक्षा निदेशक/प्राचार्य के निर्देशन में कुल 08 जिलों (बहराईच, बलरामपुर, बस्ती, हरदोई, लखीमपुर खीरी, शाहजहाँपुर, संतकबीर नगर व श्रावस्ती के चयनित शिक्षकों को प्रशिक्षित किया जायेगा। यह प्रशिक्षण पूर्णतया आवासीय होगा।
इस प्रशिक्षण का मुख्य उद्देश्य प्रारम्भिक चरण के सभी शिक्षकों को सीखने के परिणामों, स्कूल आधारित मूल्यांकन, शिक्षार्थी केन्द्रित शिक्षण शिक्षा में नई पटल और शिक्षाविदो आदि के माध्यम से बच्चों की विविध आवश्यकताओं का निदान करना है। साथ ही राज्य के अधिकारियों को और प्रधानाध्यापकों को भी सीखने के परिणामों, National Achievement Survey शिक्षार्थी केन्द्रित शिक्षाशास्त्र और स्कूली शिक्षा में नई पटल पर उन्मुख करना है, जिससे वे स्कूलों को उचित अनुसमर्थन प्रदान कर सकें।
इस प्रशिक्षण का उद्देश्य विद्यालय के प्रधानाध्यापको को समग्र शिक्षा के तहत गठित Youth and Eco Club, विद्यालय सुरक्षा और संरक्षा निर्देश विद्यालय आधारित मूल्यांकन, शगुनोत्सव आदि के बारे में जागरुक करना भी है।
इस प्रशिक्षण का माड्यूल NCERT एवं NIEPA द्वारा विकसित किया गया है, जो कि Chalk and Talk विधि पर आधारित न होकर गतिविधि आधारित है। यह माड्यूल आधारित प्रशिक्षण छात्रों के सीखने के परिणामों में सुधार के मद्देनजर शिक्षकों का कक्षा स्तर तक सुसंगत विधाओं व ICT का उपयोग करके व्यापक सहायता प्रदान करेगा। यह प्रशिक्षण कार्यक्रम प्राथमिक स्तर पर कार्यरत शिक्षकों, प्रधानाध्यापकों, ब्लाक संसाधन समन्वयकों, NPRC को सीखने के परिणाम, बच्चों के सामाजिक एवं व्यक्तिगत गुणों में सुधार स्कूल आधारित मूल्यांकन, नई पहल सुरक्षा और विभिन्न विषयों की सुरक्षा आदि के लिए शिक्षार्थी शिक्षण प्रशिक्षण में सम्मिलित किया जायेगा।
इस प्रशिक्षण का संचालन राज्य मुख्यालय स्तर व ब्लाक संसाधन केन्द्रों पर होना है। निदेशक, राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद, उ0प्र0, लखनऊ द्वारा NISHTHA के संचालन हेतु नोडल अधिकारी नामित किया गया है। यह प्रशिक्षण 05 केन्द्रों-मेरठ, प्रयागराज, वाराणसी, लखनऊ एवं आगरा में NCERT द्वारा गठित राष्ट्रीय संदर्भदाता समूह द्वारा संपादित किया जाना है। प्रदेश में 16 चरणों में 3695 KRPs तथा 739 SRPs को प्रशिक्षित किया जाना है।
इस उपलक्ष्य पर सभी सम्मनित अतिथियों को पवन सिंह चौहान ने स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया।