अखिलेश सरकार में तय की गई लागत से 1600 करोड़ रुपये कम में बनेगा पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे - डा0 चन्द्रमोहन

वेबवार्ता (न्यूज़ एजेंसी)/अजय कुमार वर्मा 
लखनऊ 10 दिसम्बर। भारतीय जनता पार्टी ने कहा है कि लखनऊ से शुरू होकर गाजीपुर तक जाने वाले पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का बलिया तक विस्तार किया जाना एक स्वागतयोग्य कदम है। इसके लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार बधाई की पात्र है। पूर्वांचल एक्सप्रेसवे यूपी के पूर्वी जिलों में विकास की एक नई गाथा लिखेगा। जनता के पैसे से भाजपा सरकार में तैयार हो रहा पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के निर्माण में पाई-पाई का हिसाब रखा जा रहा है। पिछली सपा सरकार में 14162 करोड़ रुपए में पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के निर्माण का अनुमान लगाया गया था जबकि 15157 करोड़ रुपए पर बिड फाइनल की गई थी।
प्रदेश पार्टी मुख्यालय पर पत्रकारों से चर्चा करते हुए प्रदेश प्रवक्ता डा0 चन्द्रमोहन ने कहा कि इस तरह सपा सरकार ने अनुमान से अधिक 995 करोड़ रुपए पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के निर्माण पर खर्च करने की तैयारी की थी। सपा की भ्रष्टाचारपरक सोच का परिणाम ही था कि जनता ने वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में इन्हें बुरी हार दी। इसके बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार ने बिना टैक्स 11863 करोड़ रुपए में पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे बनाने का अनुमान लगाया था। फाइनेंसियल बिड के बाद से 11215 करोड़ रुपए में तैयार करने का रास्ता साफ हो गया। यह अनुमान से 621 करोड़ रुपए कम है। इस प्रकार भाजपा सरकार में बनने वाला पूर्वांचल एक्सप्रेस वे सपा सरकार में तय की गई लागत से 1616 करोड़ रुपए कम है। भाजपा सरकार ने पूरे 1600 करोड़ रूपये बचाए है।
प्रदेश प्रवक्ता डा0 चन्द्रमोहन ने कहा कि यही दोनों सरकारों की सोच में अंतर स्पष्ट बयां करता है। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की सपा सरकार ने आगरा लखनऊ एक्सप्रेसवे का निर्माण केवल अपने रिश्तेदारों के चुनावी क्षेत्रों को जोड़ने के लिए कराया था जबकि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पूर्वांचल एक्सप्रसेवे का निर्माण पूर्वी जिलों के विकास के लिए करा रहे हैं। पूर्वांचल एक्सप्रेसवे यूपी के विकास को गति और नई पहचान देगा।